कमजोर सियार पंचतंत्र की कहानियां

 एक घने जंगल में एक सियार रहता था, जो कमजोर था ।लेकिन खुद को बहुत बुद्धिमान समझता था और अन्य जानवरों को मूर्ख समझता था। एक दिन की बात है, जब सियार जंगल में खाने की तलाश में घूम रहा था। तभी उसे एक हिरण दिखाई दिया, जिसके तीन बच्चे हैं। यह देखकर सियार बहुत खुश हुआ कि शिकार तो यही है।

 भरपेट भोजन मिलेगा सोचकर सियार मन ही मन खुश होने लगा। फिर सियार हिरण के पास चला गया व हिरण से प्यार पूछने लगा। कि हे हिरण रानी ! आप अपने बच्चों को कहां ले जा रही हैं 

कमजोर सियार पंचतंत्र की कहानियां

 

 हिरण ने कहा- मैं अपने बच्चों को जंगल में घूमा रहीं हूं ( अर्थात् जंगल का ज्ञान दे रही हूं )


सियार ने कहा- क्या मैं भी आप के साथ चल सकता हूं 


हिरण ने कहा- लेकिन मेरे बच्चों को किसी भी प्रकार की हानि मत पहुंचाना ।


सियार ने अपने चतुराई से बोला कि मैं किसी भी जीव को हानि नहीं पहुंचाता हूं


हिरण इस बात को सुनकर सियार पर भरोसा कर लिया। और अपने साथ चलने को कहा। तभी चलते-चलते हिरण के बच्चे को झील दिखी व हिरण के बच्चों को बहुत प्यास लगा था। बच्चें अपने मां से झील में पानी पीने जाने के लिए अनुमति मांगते हैं । तभी सियार ने चतुराई से बोला हे हिरण रानी! मैं लेकर जाऊंगा आप के बच्चों को झील में पानी पिलाने। 

हिरण ने कहा- ठीक है ले जाओ , लेकिन हिरण को सियार पर शक था कहीं मेरे न जाने पर सियार मेरे बच्चों को किसी भी प्रकार की हानि पहुंचा न दे। इसलिए मां हिरण भी बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए झील चली गई।

 

सियार की चतुराई असफल हो गया और निराश होने लगा,

क्योंकि भूखा होने के कारण कमजोर होने लगा।


हिरण स्वस्थ व फुर्तीला था।


 पर अचानक हिरण का एक बच्चा गुफा के अंदर चला गया।

 

 सियार ने अपने चतुराई से बोला इस गुफा में एक बहुत ख़तरनाक जीव रहता है जो गुफा के अंदर जाने पर खा जाता है।

  सियार ने कहा हे हिरण रानी! कृपया मुझे गुफा के अंदर जाने दीजिए मैं आपके बच्चे को सुरक्षित लेकर आऊंगा। यह कहकर भूखा सियार गुफा के अंदर चला गया (सियार यह मौका नहीं गंवाना चाहता था ) 

  

गुफा काफी अंधेरा होने के कारण सियार अपने शिकार को ढूंढने में असमर्थ था। सियार अंधेरे में इधर-उधर झपट्टा मारने लगा। लेकिन अंत में हिरण का बच्चा नजर आ गया और उसे देखकर सियार तुरंत झपट्टा मारा लेकिन सियार कमजोर होने के कारण एक गड्ढे में गिर गया किंतु हिरण का बच्चा फुर्तीला होने के कारण ऊंची छलांग लगाकर बच गया और गुफा से सुरक्षित अपने परिवार के पास चला गया। परन्तु कमजोर सियार गड्ढे में फंसकर मर गया।

टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट